सोमवार, 23 मई 2011

सवाल ...

कभी हवा में उड़ते ,
कभी हवा से लड़ते , सवाल |
कभी माथे से फिसलते ,
पसीने से पिघलते , सवाल |

कभी दीवार से सटे ,
कभी जमीन में पटे , सवाल |
कभी माथे में चुभते ,
जिगर में दुखते , सवाल |

कभी बौहों को उठाते ,
पलकों को उलझाते , सवाल |
कभी झंझोड़ते ,
मन को झुंझलाते सवाल |

कभी हलकी सी सिसकी ,
कभी तूफ़ान , सवाल |
कभी रज़ा का अमन चैन ,
कभी जिहाद का बवाल , सवाल |

अक्षत डबराल
"निःशब्द"

1 टिप्पणी:

  1. कभी हलकी सी सिसकी ,
    कभी तूफ़ान , सवाल |
    कभी रज़ा का अमन चैन ,
    कभी जिहाद का बवाल , सवाल |
    achhi rachna

    उत्तर देंहटाएं